संपादकीयहिसार

वोट की लालसा में ‘इनेलो’ मतदाताओं को दे रही“सोने के मंगलसूत्र” देने का लालच!

संपादकीय महेश मेहता

हिसार टुडे

भाई हद्द होती है अब तक तो सुना था कि चुनाव जीतने के लिए पार्टियां और नेताजी बोलते हैं कि अगर हमें वोट दिया तो हलके का विकास करेंगे, हमें वोट दिया तो प्रदेश की शक्ल-सूरत बदल देंगे, हमें वोट दिया तो विकास की बाढ़ ला देंगे, हमें वोट दिया तो हर समस्या को हल करवा देंगे। मगर क्या आपको पता है कि अपने हरियाणा में ऐसी पार्टी है जो मतदाताओं को कहती है कि हमें वोट दिया तो सोना (गोल्ड) देंगे। चौंकिये नहीं अब तक तो मतदाताओं के वोट दबे जुबान से पैसों से खरीदने की बात काफी सुना करते थे, मगर हरियाणा की एक ऐसी पार्टी है जो खुलेआम कह रही है कि हमें वोट दो तो सोना मिलेगा।

दरअसल यह कीर्तिमान करने वाली बहुचर्चित पार्टी है “इंडियन नेशनल लोकदल।” जाहिर है आपको सुनकर हैरानी हुयी होगी। दरअसल इन दिनों जननायक जनता पार्टी की महिला नेता और दुष्यंत चौटाला की माँ नैना चौटाला की हरी चुनरी चौपाल को टक्कर देने के लिए इनेलो पार्टी ने सुनैना चौटाला को मैदान में उतारा है। सुनैना चौटाला इसी मुहीम के तहत नैना चौटाला की तरह इनेलो पार्टी की तरफ से महिलाओं को इकठ्ठा करने के लिए हरी चुनरी चौपाल का आयोजन करती आ रही है। हालांकि सुनैना चौटाला ने इस बार विधानसभा चुनाव जीतने के लिए नया फंडा अख्तियार किया है, आश्चर्य की बात है कि सुनैना पार्टी के काम के लिए नहीं बल्कि अपने फेसबुक में तस्वीर पोस्ट कर मतदाताओं को लुभाते हुए कहती हैं कि अगर मतदाताओं ने उनकी सरकार को सत्ता में लायी तो हर महिला को सोने का मंगलसूत्र दिया जायेगा।

आज यह बैनर देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि यह नेता लोग हम मतदाताओं को क्या समझते हैं। क्या सोने का लालच देना आज के समाज में उचित है? क्या यही सबसे पुरानी क्षेत्रीय पार्टी इनेलो की हकीकत रह गयी है। उन्हें पता है वैसे भी जनता उनको कोई खास तब्बजो नहीं दे रही, लोकसभा में जो हश्र हुआ अब विधानसभा चुनाव में वही हश्र होने की उम्मीद जताई जा रही है। इतना ही नहीं इनेलो से नेताओं और विधायकों का एक के बाद एक बाहर निकलने से इनेलो के अंदर कोहराम जरूर मचा हुआ है। मगर क्या यह कोहराम इतना ज्यादा है कि विधानसभा के पहले ही इनेलो के नेता अपनी हिम्मत हारने लगे हैं? क्योंकि अगर ऐसा नहीं तो सुनैना चौटाला जिनको समाज के समक्ष एक अच्छा उदाहरण देना चाहिए था वह महिलाओं को सोने के मगलसूत्र देने का लालच दे रही हैं।
हैरानी की बात है कि खुलेआम मतदाताओं को सोना देने की बात करना लोकतंत्र और हमारे समाज के लिए किसी खतरे से कम नहीं। क्योंकि इन घटनाओं ने साबित कर दिया है कि हरियाणा की जनता पैसे के पीछे पागल है, अगर ऐसा नहीं तो किसी महिला नेता को ऐसे लालच देने की हिम्मत कैसे हुयी। खैर यह चुनाव है, हर पार्टी चुनाव में कुछ नया एक्सपेरिमेंट करना चाहती है। अब जब इनेलो को न बसपा का, न भाजपा का समर्थन है ऐसे में वह अपनी पार्टी को चर्चा में लाने के लिए यह हथकंडे इस्तेमाल करें तो इस बात को समझा जा सकता है।

वैसे अभी गेम खत्म नहीं हुआ है, जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आता जायेगा न जाने कौन-कौन से लुभावने वादे नागरिकों को चुनाव में दिशाभूल करने के लिए विभिन्न पार्टियां बिछाती रहेंगी, सवाल उठ खड़ा होता है कि जाल में कौन फंसेंगा? वैसे इनेलो पार्टी को यह तामझाम न करके अपनी पार्टी को मजबूत करने की दिशा में काम करना चाहिए। इनेलो पार्टी को यह कहना चाहिए कि लोगों के लिए ऐसा हरियाणा बनाये कि किसी को किसी से सोना-चांदी-हीरा-मोती और पैसों की भीख मांगना न पड़े, बल्कि वह खुद इतना सक्षम रहे कि वह अपनी इन जरूरतों को खुद पूरा कर सके। जो मंगलसूत्र महिला के सुहाग की निशानी होती है उस मंगलसूत्र का सौदा मतों से करना वह भी एक महिला द्वारा कितना शोभनीय है यह मुझे तो पता नहीं हालांकि यह बात सुनने में खेदजनक और शर्मनाक जरूर है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close