टुडे न्यूज़राजनीतिसंपादकीय

खट्टर सरकार पर खजाना खाली करने का आरोप

Hisar Today

हरियाणा में कांग्रेस अब मनोहर लाल कि खट्टर सरकार को घेरने में लगी हुई है। बीजेपी सरकार पर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने कई आरोप मंढे़ हैं। सेक्टर-नौ स्थित प्रदेश कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने दावा किया कि प्रदेश का खजाना खाली हो गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि बीते रोज खजाने में जीरो बैलेंस था। यह उन्हें सूत्रों के माध्यम से पता चला है। अशोक तंवर के इन आरोपों ने 2012 में हुड्डा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश के कर्ज के बोझ तले दबे होने की बात को ताजा कर दिया। उस समय तत्कालीन इनेलो प्रधान महासचिव अजय सिंह चौटाला ने युवा इनेलो नेता गुलशन सैनी के निवास पर कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा था कि 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23 हजार करोड़ रुपये का कर्जा था, लेकिन 2005 से हुड्डा सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश पर 60 हजार करोड़ का कर्ज हो गया। प्रदेश का खजाना खाली है जिस कारण आज प्रदेश के कर्मचारियों को वेतन, वृद्धों को बुढ़ापा पेंशन तक नहीं मिल पा रही है। आज अशोक तंवर ने भाजपा की मनोहर सरकार पर आरोप लगाते हुए दोबारा सरकार का खजाना खाली होने का खुलासा किया है। अशोक तंवर तो सीधे मुख्यमंत्री से पूछ रहे हैं कि आखिर खजाने का धन कहां गया, खट्टर सरकार इसका जवाब दे। अशोक तंवर ने कहा कि बीजेपी जींद में उपचुनाव क्यों नहीं कराने दे रही है।

उपचुनाव को लेकर लोग अनिश्चितकालीन धरना दे रहे हैं, लेकिन बीजेपी अपनी मनमानी में लगी हुई है। बीजेपी ने चुनाव आयोग को उपचुनाव न कराने को लेकर लेटर लिखा जिसे चुनाव आयोग मान गया। आखिर बीजेपी चुनाव क्यों नहीं होने दे रही। दरअसल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. अशोक तंवर ने जीरो बैलेंस अकाउंट की एक फोटो दिखाते हुए दावा किया है कि हरियाणा सरकार का खजाना बिल्कुल खाली हो चुका है। नौ अक्टूबर को सरकारी खजाने का बैलेंस पूरी तरह शून्य था। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में तंवर ने कहा कि वर्ष 2013-14 में हरियाणा की देनदारी 79600 करोड़ रुपये थी जो कि 2016-17 तक बढ़ कर 144100 करोड़ रुपये हो गई है, अब इससे भी ज्यादा है। तंवर ने कहा कि मुख्यमंत्री तथा राज्य के वित्त मंत्री को सही स्थिति लोगों के सामने रखने के लिए श्वेतपत्र जारी करना चाहिए ताकि पता लग सके कि सरकारी खजाने का सारा पैसा कहां गया। अशोक तंवर के बयान भाजपा ने देश प्रदेश की अर्थव्यवस्था बिगाड़ दी है और कर्मचारियों को देने के लिए पैसे नहीं है, पर टिप्पणी करते हुए स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि खजाना खाली तो कांग्रेसियों का हुआ है। कांग्रेसी घर-घर जाकर पैसे मांग रहे हैं, जिन्हें ऊपर से आदेश हुए हैं।

इसलिए चंदा इकठ्ठा कर रही है। अशोक तंवर और कांग्रेस का खजाना खाली हो गया है, इसलिए ये ऐसी बातें कर रहे हैं। बता दें की जिस प्रकार आज कांग्रेसी भाजपा को घेर रहे है। कुछ साल पहले इनेलो कांग्रेस को घेरा करती थी। इनेलो नेता डॉ. अजय सिंह चौटाला ने 2012 में बयान देते हुए कहा था कि 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23 हजार करोड़ रुपये का कर्जा था, लेकिन 2005 से हुड्डा सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश पर 60 हजार करोड़ का कर्ज हो गया है। उन्होंने उस समय यह भी कहा था कि प्रदेश के किसानों को उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के मुकाबले 50 रुपये प्रति क्विंटल कम मिल रहे हैं। प्रदेश में हुड्डा सरकार ने 5 हजार विकास कार्य करवाने की बात कही है। जिनमें से आधे विकास कार्य केवल रोहतक क्षेत्र में हुए है। सरकार के पास तो पैसे ही नहीं है। आज यही बात 2018 में अशोक तंवर की जुबान से निकल रही है। उनका मानना है कि सरकार की तिजोरी खाली है। इसका मतलब है कि हर रोज जिस प्रकार से मनोहर लाल करोड़ों रूपए के विकास कार्यों की घोषणा कर रहे हैं, हो सकता है वो चुनावी स्टंटबाजी हो और विकास केवल पन्नो पर ही सिमट के रह जाए। ऐसे में भाजपा सरकार भले ही कहे की उसका खजाना भरा है, ऐसे में अशोक तंवर के दावे कहीं न कहीं भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा रहे हैं। जो बेहद चिंता का विषय है। हो सकता है कि इसकी मार आगे चलकर विकासशील परियोजनाओं पर भी पड़े।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close