चण्डीगढटुडे न्यूज़राजनीतिहरियाणा

इनेलो के बागी विधायकों ने स्पीकर को भेजा जवाब, 70 पेज का दिया जवाब

लंबे जवाब और पेजों को देखर विधानसभा का स्टाफ दंग

हिसार टुडे 

विधानसभा स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस पर इनेलो के चारों बागी विधायकों की तरफ से 65-70 पेज का जवाब भेजा गया है। इतने लंबे जवाब और पेजों को देखर विधानसभा का स्टाफ भी दंग रह गया है। इतना कुछ पढ़ने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। बताया जा रहा है कि विधायक नैना चौटाला, पिरथी नंबरदार, अनूप धानक और राजदीप फौगाट की ओर से जो जवाब दिए गए हैं, उनमें ज्यादा फर्क नहीं हैं। ज्यादातर अंग्रेजी में होने से केवल ‘ही’ और ‘शी’ अक्शर ही बदले हैं। शिकायतकर्ता फतेहाबाद के तत्कालीन विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया के भाजपा में शामिल होने पर वे विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे चुके हैं।
वहीं, अब इनेलो ने भी इन चारों विधायकों के खिलाफ नई शिकायत देने की तैयारी कर ली है, क्योंकि बलवान सिंह दौलतपुरिया अब विधानसभा के सदस्य नहीं हैं और इनेलो भी छोड़ चुके हैं। इसलिए इनेलो की ओर से इन सभी विधायकों के खिलाफ अपनी शिकायत जारी रखने के लिए पार्टी नेतृत्व किसी दूसरे विधायक से शिकायत दर्ज करा सकती है। इनेलो के चारों बागी विधायकों ने कहा है कि ‘उनके खिलाफ पार्टी गतिविधी करते हुए जिस जजपा का समर्थन करने का आरोप लगाया गया है, वे गलत है, क्योंकि शिकायत 3 मार्च को की गई है और जजपा का अस्तित्व ही अप्रैल के पहले हफ्ते में आया था। ऐसे में वे जजपा का समर्थन कैसे कर सकते हैं’।
विधायकों की तरफ से तर्क दिया गया है कि उन्होंने केवल दुष्यंत का समर्थन किया है। किसी भी स्टेज पर इनेलो छोड़ने की बात नहीं की गई।बता दें कि पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला ने अजय चौटाला, दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला को इनेलो से निष्कासित कर दिया था। जिसके बाद दुष्यंत ने नई पार्टी का निर्माण करते हुए जननायक जनता पार्टी बनाई। उक्त चारों विधायकों पर अब आरोप लगे हैं कि ये जजपा का पक्ष लेते हुए उनके मंचों पर जा रहे हैं। इन्होंने इनेलो से इस्तीफा नहीं दिया है। जिसपर विधानसभा स्पीकर को शिकायत दी गई कि इन सभी की सदस्यता को रद्द किया जाए। जिसके बाद चारों विधायकों को नोटिस जारी किया गया और टाइम भी बढ़ाया गया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close