करियर

12वीं के बाद करियर का नया ऑप्शन ‘टी टेस्टिंग’

एजुकेशन डेस्क

‘टी टेस्टिंग’ एक नया सा नाम है। जिसके बारे में शायद आपने कम ही सुना होगा। सुबह-सुबह चाय पीना हर किसी को अच्छा लगता है। अधिकतर लोग खाने-पीने की शुरुआत इसी के साथ करते है। चाय पीकर ही दिन की दिनचर्या शुरू होती है। क्या आपको पता है कि जिस चाय से आप दिन की शुरुआत करते है उसी चाय की चुस्कियों में आप एक बेहतरीन करियर बना सकते है। जी हां आप टी टेस्टिंग में अपना करियर बना सकते है। इस फील्ड के बारे में लोगो को कम जानकारी होने के कारण इस सेक्टर में आसानी से भविष्य बनाया जा सकता है। इस फील्ड में अभी कॉम्पिटीशन कम है जिसका आप लाभ उठा सकते हैं।

क्या होती है टी टेस्टिंग

इसमें आपको चाय के स्वाद को चखना होता है और इसको बेहतर कैसे बनाया जाये। इसके बारे में सुझाव देना होता है। अपनी कम्पनी के अलावा दूसरी कम्पनी की चाय से तुलना की जाती है। अपनी टी को बेहतर बनाने के लिए गहराई से शोध किया जाता है। तब जाकर ये स्वादिष्ट चाय बाजार में बिकने के लिए आती है। फिर इसे हम लोग खरीद कर इसे स्वाद से पीते हैं।

टी टेस्टिंग कोर्स योग्यता
टी टेस्टिंग कोर्स को करने के लिए बॉटनी विषय में ग्रेजुएशन डिग्री का होना आवश्यक है। इसके अलावा फूड साइंस, उद्यान विज्ञान या एग्रीकल्चर साइंस (कृषि विज्ञान) से 12वीं पास वाले भी इस कोर्स को करने के योग्य होते है।

वेतन
इस कोर्स को करने के बाद शरुआती जॉब ट्रेनी में 10 से 15 हजार रुपये आसानी से मिल जाते हैं। फिर कुछ साल का एक्सपीरियंस होने के बाद 30 से 40 हजार रुपये मिल जाते है। अनुभव बढ़ने के साथ-साथ इसमें सेलरी बढ़ने की अपार संभावनाएं हैं।

कहां से करें?
बेंगलुरू इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांटेशन मैनेजमेंट अपने सर्टिफिकेट प्रोग्राम के तहत चाय के बिजनेस मैनेजमेंट, मार्केट इंफॉर्मेशन, टी टेस्टिंग की तकनीक और उसके तरीकों के बारे में अध्ययन कराता है। यह कोर्स टी बोर्ड ऑफ इंडिया और वाणिज्य मंत्रालय के सहयोग से कराया जाता है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close