भिवानीहरियाणा

हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ जाएगा न्यायालय की शरण में

सरकार दे गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को राहत: शर्मा

भिवानी ।

हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ के जिला प्रधान घनश्याम शर्मा ने कहा कि आज हरियाणा प्राइवेट स्कूल बंद होने की कगार पर खड़े हैं। अगर इस बारे में शीघ्र ही कदम नहीं उठाया गया तो लाखों की संख्या में अध्यापकों की बेरोजगारी और लाखों छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो जाने की नौबत आ जाएगी।

यह बात आज उन्होंने यहां दुर्गा देवी हाई स्कूल में पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि ऐसी परिस्थिति में स्कूल संचालक न केवल जेल जाने की बल्कि आत्म हत्या करने तक मजबूर हो जाऐंगे। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि प्रदेश के सभी अस्थाई, प्रमिशन प्राप्त तथा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को वर्तमान के बीच में बंद ना करके इन्हें स्थाई मान्यता लेने के लिए और समय दिया जाए। उन्होंने कहा कि ये प्राईवेट विद्यालय शिक्षा व संस्कार देकर राष्ट्र कर भविष्य बना रहे हैं। ऐसे में इन विद्यालयों के बारे में सरकार को सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए राहत देने का काम करना चाहिए। उन्होंने सरकार व शिक्षा विभाग को इस समस्या का समाधान करते हुए कहा कि सरकार कुछ नियमों में ढील देकर इन विद्यालयों को स्थाई मान्यता प्राप्त विद्यालयों की तरह मुख्य धारा में ला सकती है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार की नीतियों व कारगुजारियों से परेशान स्कूल संचालक धरना प्रदर्शन करने व जेल जाने व अंत में आमरण अनशन करने को मजबूर हो जाऐगी। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया तो व न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाऐंगे।

इस अवसर पर जिला प्रधान जयपाल चरखी दादरी, उप-प्रधान श्योपाल, सुनील, भिवानी उप प्रधान दयानंद बाजल, कोषाध्यक्ष आनंद लखेरा, प्रदेश उप प्रधान सतीश तंवर, भिवानी जिला सलाहकार ओम प्रकाश शर्मा, भिवानी शहरी प्रधान पृथ्वी सैनी, उप प्रधान दलबीर सिंह, सचिव सतीश प्रजापत, बुवानीखण्ड प्रधान बजरंग चौहान, तोशाम खण्ड प्रधान अजीत शेखावत, उप प्रधान कृष्ण कुमार, कैरू खण्ड प्रधान रमेश कुमार तथा नरेश शर्मा सहित अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close