टुडे न्यूज़हरियाणाहिसार

रोडवेज का चक्का रहा जाम

सफल हड़ताल से सबक लेकर सरकार निजीकरण बंद करे और किलोमीटर स्कीम रद्द कर लम्बित मांगों को लागू करे : कमेटी

हिसार टुडे।

ट्रेड यूनियनों व कर्मचारी फैडरेशनों के आह्वान पर बुधवार को हुई राष्ट्रव्यापी हड़ताल का रोडवेज के हिसार डिपो में व्यापक असर नजर आया। रोडवेज तालमेल कमेटी ने दावा किया आज हिसार डिपो सहित पूरे प्रदेश में रोडवेज का चक्का पूरी तरह से जाम रहा और सरकार व प्रशासन रोडवेज की बसें चलाने में नाकाम साबित हुए। हिसार में हड़ताल के दौरान प्रदर्शनकारी रोडवेज कर्मचारियों को संबोधित करते हुए हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के वरिष्ठ नेता दलबीर किरमारा, सरबत सिंह पूनिया व राजपाल नैन ने बताया कि केन्द्र व राज्य सरकार की कर्मचारी व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ ट्रेड यूनियनों व कर्मचारी संघों के आह्वान पर देश भर में 25 करोड़, प्रदेश में 3 लाख कर्मचारी हड़ताल पर रहे। उन्होंने कहा हरियाणा रोडवेज में 3280 बसों में से 2650 बसों का पूर्ण चक्का जाम रहा।

उन्होंने बताया फरीदाबाद डिपो में राजबीर नागर व बीरेन्द्र सरौत दो कर्मचारी नेताओं को गिरफ्तार किया है। उन्होंने गिरफ्तार नेताओं को तुरन्त रिहा करने की मांग की।  कमेटी नेताओं ने कहा फरीदाबाद व अम्बाला सहित कई डिपोओं में सरकार व प्रशासन द्वारा तानाशाही व दमनात्मक कार्रवाई के बावजूद 85 प्रतिशत कर्मचारियों ने चक्का जाम हड़ताल की। कर्मचारी नेताओं ने जोर देकर कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार सफल हड़ताल से सबक लेकर निजीकरण, ठेका प्रथा व आउटसोर्सिंग की पोलिसी रद्द करे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हरियाणा रोडवेज में किलोमीटर स्कीम रद्द करके बढ़ती आबादी अनुसार विभाग में 14 हजार सरकारी बसें शामिल की जाएं, पुरानी पेंशन स्कीम बहाल की जाए, रिक्त पड़े लाखों पदों पर पक्की भर्ती की जाए, सभी कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, जोखिम भत्ता लागू किया जाए व पंजाब के समान वेतनमान लागू करने आदि मांगों पर गंभीरता से विचार कर उनको पूरा करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता व कर्मचारियों की प्राइवेट बसें चलाने की बजाए सरकारी बसों की मांग है। परन्तु सरकार जनता की मांग को दर किनार करके अपने चहेते पंूजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किलोमीटर स्कीम के तहत प्राइवेट बसें ठेके पर लेने की जिद्द पर अड़ी हुई है।

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार की नीयत व नीति जनता व छात्र-छात्राओं को बेहतर व सुरक्षित परिवहन सेवा देने की है तो विभाग में बढती आबादी अनुसार विभाग में 14 हजार सरकारी बसें शामिल करे, ताकि जनता को बेहतर परिवहन सेवा मिलने के साथ 84 हजार बेरोजगारों को स्थाई रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा कि किलोमीटर स्कीम रद्द करने व संबंद्यित मांगों को लेकर रोडवेज तालमेल कमेटी द्वारा आंदोलन तेज किया जाएगा। इस मौके पर कर्मचारी नेता राम सिंह बिशनोई, राजकुमार चौहान, रमेश माल, सुभाष ढिल्लो, सुरेन्द्र मान, कुलदीप पाबड़ा आदि कर्मचारी नेताओं ने सरकार की कर्मचारी व जन विरोधी नीतियों की जमकर आलोचना की।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close