टुडे न्यूज़सिरसा

सिरसा से जन आशीवार्द यात्रा को मिला आपार जनसमर्थन पार्टी के अबकी बार 75 पार नारे को करेगा पूरा : दुग्गल

सांसद सुनीता दुग्गल ने मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के भव्य स्वागत व भारी समर्थन के लिए सिरसावासियों को किया धन्यवाद

हिसार टुडे ।सिरसा

सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा को सिरसा में बहुत ही बड़ा जनसमर्थन मिला और जगह-जगह पर भव्य स्वागत किया। यात्रा को दिए इतने प्यार व स्नेह के लिए पूरा सिरसा जिला धन्यवाद का पात्र है। पूरे प्रदेश में यात्रा को मिले भारी जनसमर्थन को देखते हुए कहा जा सकता है कि भारतीय जनता पार्टी का अबकी बार 75 पार का जो नारा अवश्य ही पूरा होगा और सिरसा जिला उसमें भागीदार होगा।

वे आज यहां स्थानीय विश्राम गृह में सिरसा वासियों द्वारा मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा को दिए जनसमर्थन व भव्य स्वागत के लिए धन्यवाद स्वरूप एक प्रेसवार्ता को संबोधित कर रही थी। इस अवसर जिलाध्यक्ष भाजपा यतिंद्र सिंह एडवोकेट, पूर्व चेयरमैन रेणू शर्मा, युवा भाजपा नेता मुनीष सिंगला, विनोद स्वामी, नक्षत्र सिंह, पार्षद सुमन शर्मा, राजेश शर्मा, वीरभान मेहता सहित अन्य भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

सांसद दुग्गल ने कहा कि जिला में जिस प्रकार से जन आशीर्वाद यात्रा को भव्य व जोरदार स्वागत हुआ है, उससे भारतीय जनता पार्टी के अबकी बार 75 पार के नारे को कोई रोक नहीं सकता है। सिरसा यात्रा को सुबह से लेकर रात तक बच्चों, युवाओं, बुजुर्गोँ व महिलाओं से लेकर हर वर्ग का जो प्यार व सत्कार मिला है, उसके लिए मैं पूरा सिरसावासियों को तहदिल से धन्यवाद करती हूं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से लोकसभा में चुनाव में पूरे सिरसा से भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली थी, ठीक उसी प्रकार आने वाली विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की पांचों विधानसभा सीटों पर कमल का फूल खिलेगा।

उन्होंने कहा कि जिस उम्मीद व आशा से सिरसावासियों ने मुझे देश की संसद में भेजने का काम किया, मैं भी उसी के अनुरूप दिन-रात उन्हें पूरा करने के लिए प्रयासरत हूं। कुछ दिन पहले जयपुर में हुई रेलवे बैठक में उन्होंने क्षेत्र में रेलवे सुधार की दिशा में अनेक प्रस्ताव रखे। इनमें रेलवे स्टेशन पर फूड-प्लाटा, एटीएम आदि शामिल थे। उन्होंने कहा कि फतेहाबाद में आजादी के बाद से अब तक कोई भी रेलवे लाईन नहीं बनी है। वहां के लोगों के लिए यह एक बहुत ही बड़ी व आवश्यक मांग है। मैंने जयपुर बैठक में फतेहाबाद में रेलवे लाईन बिछाने के संबंध में भी प्रस्ताव रखा है। इसके अलावा जो रेल गाडिय़ां कई-कई घंटों हिसार रेलवे स्टेशन पर खड़ी रहती हैं, उनके सिरसा तक विस्तारीकरण बारे भी प्रस्ताव रखा गया है, ताकि सिरसा के लोगों का हिसार के आने- प्रयासों बारे पूछे सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सांसद बनते ही मैंने इस क्षेत्र से नशे को दूर करने के काम को अपनी प्राथमिकताओं में रखा था और आज भी है। क्षेत्र को नशा मुक्त करने व युवाओं को इससे बचाने के लिए वे दिन-रात काम कर रही है और इस दिशा में सुधार के बारे में ही सोचती हैं। इसी कड़ी में उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बातचीत की थी। मुख्यमंत्री ने भी इस बारे सहमति जताई थी कि यहां पर कोटन का अच्छा खासा क्षेत्र है, क्यों ना यहां पर कोई इससे संबंधित इंडस्ट्रीज लगाई जाए। इससे यहां के युवा को रोजगार भी मिलेगा और नशे से भी बचेगा। उन्होंने कहा कि जो युवा नशे की लत में पढ़ चुके हैं अगर वे छोडऩा चाहते हैं तो राज्य सरकार द्वारा उनका पूरा सहयोग किया जाएगा। सरकार ऐसी संस्थाओं व लोगों को जो नशा मुक्ति को लेकर कार्य कर रहे हैं, उनका हर तरह से सहयोग कर रही है।

हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि बताया कि प्रदेश सरकार गौ वंश की सेवा के लिए हर कार्य के लिए कृतसंकल्प है और इस दिशा में पूरे जोश से कार्य किया जा रहा है। अब तक सरकार द्वारा 80 करोड़ रुपये तीन साल के दौरान गौ वंश पर खर्च किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 590 गौशाला है जिसमें से सबसे अधिक सिरसा जिले में 130 गौशाला हैं। उन्होंने कहा कि गौवंश की ट्रेकिंग की जाएगी तथा कोई भी व्यक्ति अगर अपनी गाय को आवारा छोड़ देता है तो उस पर 5100 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अबतक 250 गौशाला में एक लाख 20 हजार से भी अधिक आवारा पशु भेजे गए हैं।

भानी राम मंगला ने बताया कि सरकार द्वारा अब एक नया प्रोजेक्ट शुरु किया जा रहा है जिसमें गायों के गोबर व मुत्र से धूप, अगरबत्ती, गमले तथा लकड़ी बनाई जाएगी। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से सभी गौशालाओं में 90 प्रतिशत अनुदान पर मशीने दी जाएगी ताकि सभी गौशालाएं स्वावलंबी बने और उन्हें किसी के आगे हाथ न फैलाना पड़े। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार एक पायलेट प्रोजेक्ट मेवात में लगाया जाएगा जिसमें गोबर से बॉयोगैस बनाने का प्लांट लगाया जाएगा। इस प्लांट के माध्यम से रसोई इंधन लोगों को उपलब्ध करवाया जाएगा जोकि 400 रुपये तक का खर्चा प्रत्येक परिवार को देना होगा। इस प्लांट को लगाने के लिए एक निजी कंपनी से संपर्क किया गया है। प्लांट को लगाने के लिए 25 प्रतिशत कंपनी तथा 75 प्रतिशत आयोग द्वारा खर्च किया जाएगा। लाभ का 75 प्रतिशत गौशालाओं को दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि समय-समय पर किसानों को जैविक खाद प्रयोग करने के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा जिन गांवों में गौशाला नहीं है, मनरेगा की सहायता से गौशाला बनाने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि नए-नए जैसे बॉयोगैस, सौलर प्लांट तथा बॉयोगैस के सिलेंडर जैसे प्रोजेक्ट तैयार कर गौशालाओं को मजबूत तथा स्वावलंबी बनाया जा रहा है। उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में बताया कि आवारा पशुओं को पकड़ कर नंदीशाला व गौशाला भेजा जा रहा है। परंतु हरियाणा की सीमा राजस्थान व पंजाब से सटे होने के कारण हम पूरी तरह से कैटल फ्री नहीं कर पा रहे हैं। इसके लिए भी योजनाएं बनाई जा रही है ताकि पूरे प्रदेश को कैटल फ्री किया जा सके।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close