टुडे न्यूज़हिसार

बार-बार सी.एम. ऑफिस की आंखों में धूल झोंकने का काम कर रहा है नगर निगम : जागो इंडिया जागो

निगम ने अतिक्रमण को लेकर सी.एम. विंडो की शिकायत को बिना शिकायकर्ता से बात किए व उसकी राजमंदी को शिकायत को दफ्तर दाखिल करने का काम किया है

 हिसार टुडे

नगर निगम हिसार ने एक बार फिर से सी.एम. ऑफिस की आंखों में धूल झोंकने का काम किया है। निगम ने अतिक्रमण को लेकर सी.एम. विंडो की शिकायत को बिना शिकायकर्ता से बात किए व उसकी राजमंदी को शिकायत को दफ्तर दाखिल करने का काम किया है। इससे पूर्व भी नगर निगम ने इसी तरह फर्जी फोटो डालकर शिकायत को बंद करवाने का प्रयास किया था। यह आरोप जागो इंडिया जागो के संस्थापक अधिवक्ता जितेंद्र मधोक ने लगाते हुए कहा कि उन्होंने हिसार की राजगुुरु मार्केट में अतिक्रमण व बरामदों को खाली करवाने को लेकर सी.एम. विंडो में एक शिकायत 22 अगस्त 2019 को लगाई थी लेकिन नगर निगम के अधिकारियों ने बड़ी ही चालाकी से इसमें त्यौहारों के दौरान निगम द्वारा चलाए जा रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान की मीडियो रिपोर्ट लगाकर सी.एम. विंडो पर शिकायत को बंद करवा दिया जबकि इस संबंध में खुद उनकी कोई रजामंदी नहीं ली गई कि वे शिकायत पर हुई कार्यवाही से संतुष्ट हैं या नहीं उनसे इस बारे में कोई पत्राचार या पूछताछ नहीं की गई। इससे पुन: साबित होता है कि नगर निगम सी.एम. विंडो की शिकायतों को कितनी तवज्जो देता है और शिकायत पर ठोस कार्यवाही की बजाय उन शिकायतों को सी.एम. विंडो की आंखों में धूल झोंककर बंद करवाने में उसकी ज्यादा दिलचस्पी रहती है।

जितेंद्र आर्य ने बताया कि हिसार की बड़ी और पुरानी मार्किट में शुमार राजगुरु मार्किट के दुकानदारों ने बरामदों पर कब्जा कर रखा है और जिससे आम आदमी व ग्राहकों को मजबूरी में सडक़ों पर चलना पड़ता है जो राजगुरु मार्किट में अक्सर जाम का बड़ा कारण रहता है। ग्राहक मजबूरी में सडक़ों के बचे हुए उस हिस्से पर चलने को मजबूर हैं जिन पर से वाहन गुजर रहे होते हैं और शासन-प्रशासन मूकदर्शक बनकर ये सब देख रहा है और आए दिन आम आदमी व ग्राहक छोटी-मोटी दुर्घटनाओं का शिकार होते रहते हैं। बरामदों पर आम आदमी व ग्राहकों के चलने के लिए स्थान ना छोडऩा उन ग्राहकों के मानवाधिकारों का खुले तौर पर उल्लंघन करने के सामान है। जहां एक ओर बरामदों में आम आदमी व ग्राहक का चलने का अधिकार है तो वहीं शासन व प्रशासन का भी दायित्व है  कि वो उस आम आदमी व ग्राहक के अधिकारों की रक्षा करें व सुनिश्चित करें कि कहीं उस नागरिक को संविधान में दिए गए अधिकारों का हनन तो नहीं हो रहा। जितेंद्र आर्य ने कहा कि नगर निगम प्रशासन का यह फर्ज बनता है कि वह खुद अतिक्रमण पर कार्यवाही कर आमजन को राहत व सुविधा प्रदान करवाए लेकिन शिकायत के बावजूद भी नगर निगम इस तरह की मनगढ़ंत कार्यवाही दिखाकर अपने फर्ज से मुंह मोड़ रहा है।

जितेंद्र आर्य ने बताया कि जागो इंडिया जागो संस्था द्वारा इस मुद्दे को अनेक बार उठाया जा चुका है परंतु आज तक इसका कोई स्थाई समाधान नहीं हुआ है बल्कि नगर निगम के अधिकारियों के द्वारा आँखों में धूल झोंकने वाली एक्शन टेकन रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजकर समस्या का समाधान दिखा दिया गया है। आर्य ने बताया कि उन्होंने इस संंबंध में सी.एम. विंडो की हेल्प लाइन पर बात कर उनकी शिकायत को गलत तरीके से बंद करवाने बारे अवगत करवा दिया है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close